5000 साल का टुटा रिकॉर्ड, सोने और चांदी के भाव में भरी गिरावट।

सोने की कीमतों में 4 हजार रुपए प्रति दस ग्राम की गिरावट

कोरोना वायरस से दुनिया भर में हाहाकार मचा हुआ है। इसका असर अब सीधे तौर पर शेयर मार्किट और सोने की कीमतों पर दिखने लगा है। एक तरफ शेयर बाजार धड़ाम हो रहा है तो दूसरी तरफ चांदी भी चमक खोती जा रही है। जानकारी के मुताबिक, सोने के भाव में भी चार हजार रुपए प्रति दस ग्राम की गिरावट आ गई है। जिसके बाद एक रिकॉर्ड बन गया है।

सोने और चांदी के कीमतों में भारी गिरावट। जहा जिसमे सोना 4 हजार और वही चांदी के भाव में भी गिरावट देखनेको मिली।
दुनिया भर में कोरोना का कहर है। जिसका असर अब सोने और चांदी के भाव में सीधा दिख रहा है। जहा चांदी की चमक फीकी होरही है। तो सोने क भाव में 4 हजार रूपए प्रति 10 ग्राम की गिरावट हुई है। यही नहीं कोरोना के कहर ने पुरे शेयर मार्किट और पूरी economy को हिलाके रख दिया है।

आज ये इस्थिति है। के 1 kg सोने में 122 kg चांदी मिल रही है। जो की आजसे 5000 साल पहले 1 kg सोने में 2.5 kg चांदी मिलती थी। सन 1750 से पहले हम्मूराबी के काल में एक किलो सोना के बदले छह किलो चांदी मिलती थी। सन 560 में ग्रीस के महान शासक क्रोएसस को सोने चांदी में काफी रूचि थी। उसी दौरान सोने चांदी के सिक्के बाजार में लाए गए। तब तक इनके बिच का संताल 13 गुना होगया था। उसके बादसे ही सोने और चांदियो के अहमियत में बदलाव आते गए। सोना महंगा होता गया। और इसके कारन बुधवार को एक किलो सोने का भाव 123 किलो चांदी के बराबर पहच गया।

हमें मिली जानकारी के हिसाब से पिछले साल 1 kg सोने बदले 80 kg चांदी मिलरही थी। ये देखा जाए तो एक साल के अंदर ही एक किलो सोने के तुलना में 43 किलो की गिरावट आई है। पिछले हफ्ते सोने का भाव 41 हजार प्रतिकिलो के स्तर को पर कर लिया। और वही चांदी 37 हजार रुपए किलो के आसपास रह गया। चांदी की खफत न होने के बजह से चांदी की डिलीवरी लेट होरही है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *