10 कारणों से public toilet के दरवाजे जमीन तक नहीं होते।

1 आपातकालीन इस्थिति में चिकित्सा की सेवा।

सार्वजनिक toilet के दरवाजे छोटे होते है। ताकि देख सके कि किसी को चिकित्सा की आवश्कता तो नहीं। और है तो सही समय से उपचार किया जासके। 

2 ताकि आप देख सके कि क्या यह खाली है के नहीं।

  सार्वजनिक toilet के दरवाजे इसलिए भी छोटे होते है। क्यों की ये पता चल पाए की toilet खली है के नहीं। 

3 अंदर की बदबू कम करने में मदद करता है।

दरवाजे इसलिए भी छोटे होते है। ताकि अंदरका वातावरण ख़राब ना हो। आप बदबू से बचे रहे। 

4 दरवाजे अधिक महंगे हैं।

बढ़ती हुई महंगाई को ध्यान में रखते हुए भी आधे दरवाजे लगाए जाते है।

5 हानिकारक व्यवहार को रोकने में मदद करता है।

कोई ब्यक्ति अगर जान लेवा हमला करने की कोशिस करता है। तो उससे बचाव में मदत मिलता है। 

6 बाहर से lock होने पर अंदर फसे हुए व्यक्ति को निकला जा सकता हैं।

सार्वजनिक toilet के दरवाजे इसलिए भी छोटे होते है। अगर कोई अंदर फस्स जाए तो उसको बहार निकला जा सके। अचानक गेट बहार से लॉक्ड हो जाए । तो व्यक्तिको बहार निकला जा सके। 

7 किसी से टॉयलेट पेपर के लिए पूछ सकते हैं।

अगर आप अंदर toilet paper ख़तम हो जाए। तो आप किसी बाहरी व्यक्ति से मदत ले सके। वो भी बिना गेट खोले।

8 लोग बाथरूम में कम समय बिताए। और लाइन तेजी से चलती रहे।

9 इससे सफाई कर्मचारी के लिए फर्श को साफ करना आसान हो जाता है।

10 पाइप के टूटने की प्रस्थिति बनती है।तो इससे पानी जमा नहीं होगा।

आधे दरवाजे होने का एक यह भी फ़ायदा है। के ज्यादा पानी नहीं जमता अगर अंदर की पाइप टूटती तो।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *