हर दिन की शुरुआत करें ये 5 चीजें, बदल जाएगी आपकी किस्मत।

अगर आप दिन की शुरुआत अच्छे ढंग से करना चाहते हैं। जिससे आपका पूरा दिन सही से बीते तो इन कार्यों को अवश्य करें।

1 दिन में कम से कम 3 घंटे सीधा बैठे।
2 सोने से पहले पुरे दिन का अध्यन करे।
3 बिना अलार्म के उठने की कोशिश करे।
4 सुबह उठते के साथ ही अपने हाथो को आपस में रगड़ कर अपनी आपको पर लगाए।
5 दिन की शुरुआत मुस्कराहट के साथ करे।

1 दिन की शुरुआत में कम से कम 3 घंटे सीधा बैठे।

दिन की शुरुआत
दिन की शुरुआत

जब आप अपने दफ्तर या घर में बैठे तो बिलकुल सीधे तरीके से बैठे।

अगर ये ज्यादा देर संभव नहीं है। तो काम से काम 3 घंटे जरूर सीधे तरीके से बैठे।

हमारी बुद्धिमानी का महत्वपूर्ण कारन है। रीढ़ की सीधी प्रकृति और बोन नुरोलॉजिकल विकास जो की रीढ़ के अंदर हुआ।

अगर आप अपने दफ्तर या घर में सीधे तरीके से बैठते हैं तो आप 2 – 3 हफ्तों में ही अपने जीवन में काफी बदलाव महसूस करेंगे ।

2 सोने से पहले पुरे दिन का अध्यन करे।

दिन की शुरुआत
दिन की शुरुआत

सोने से पहले बिस्तर पर बैठ कर सोचे के आप अपनी मृत्यु के निकट है।

आप के पास सिर्फ 1 मिनट है। आप सिर्फ पीछे मूड के देखे के आपने जो आज पुरे दिन में किया क्या वो पर्याप्त है आपके जीवन के लिए।

आप सिर्फ ये अभ्यास करे आपको अंदाजा भी नहीं है के आप एक सार्थक जीवन जियेंगे।

3 बिना अलार्म के उठने की कोशिश करे।

दिन की शुरुआत
दिन की शुरुआत

एक अलार्म से उठना जीवन जीनेका बेहतर तरीका नहीं है। आप सिर्फ इतना कोशिश करे के बिना अलार्म के उठ पाए।

अगर बहत ज्यादा जरुरत है अलार्म की तो उसकी ध्वनि नरम रखे। ताकि आप अचानक से ना जगे। कोशिश ये करे के जल्दी सोने जाए ताकि सुबह अलार्म की जरुरत न पड़े।

4 सुबह उठते के साथ ही अपने हाथो को आपस में रगड़ कर अपनी आपको पर लगाए।

आँखों को हाथ से रगड़े
आँखों को हाथ से रगड़े

अगर आप अपने दोनों हाथो को एकसाथ आपस में रगड़ते है। तो हाथोमें ढेर सरे नसों के सिरे होते है।

आप इनको एकसाथ आपस में रगड़ के अपने आखो पे रखते है तो शरीर तुरंत जागरूक हो जाता है।

ऐसा करने से उठने के बाद जो नींद आती है वो नहीं आएगी। सब कुछ जागृत हो जाता है सिर्फ इतना करने से।

सुबह अपने सरीर को हिलने से पहले आप उससे जगाइए दोनों हाथो को एकसाथ आपस में रगड़ने के माध्यम से।

इसे तुरंत आपकी आखे और इन्द्रियों से जुडी नसे जागरूक हो जाएंगे।

5 दिन की शुरुआत मुस्कराहट के साथ करे।

मुस्कुराते हुए उठे
मुस्कुराते हुए उठे

हमें हमेशा आपने दिन की सुरुवात एक मुस्कराहट के साथ करनी चाहिए। क्यों की अगर आज हम सोते है तो कल सुबह 2 लाख से ज्यादा लोग नहीं उठेंगे।

होसकता है नेचुरल डेथ की वजह से। मान लीजिये आप कल जागते है तो एक छोटी मुस्कुराहट के साथ जागिये।

आप अपने प्रिये जानो को देखिये वो जिन्दा है तो एक और मुस्कुराहट दीजिये। क्यों की आप और आपके प्रियजन जीवित है।

2 लाख परवारो के साथ ऐसा नहीं हुआ और आप इनमेसे नहीं है। तो सुभे एक मुस्कुराहट के साथ जागिये।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *